सोने-चांदी की कीमतों में तेजी से गिरावट, भारत में सोने की कीमत आज 50,000 रुपये से नीचे जाने की संभावना है

भारत में सोने और चांदी की कीमतों में लगातार गिरावट क्यों हो रही है? निवेशकों को डॉलर के लिए क्यों आकर्षित किया जाता है?

सोने की कीमतों में आज लगातार तीसरे दिन गिरावट दर्ज की गई है। अमेरिकी डॉलर के बल पर विदेशी बाजारों (गोल्ड प्राइस डाउन) में सोने की कीमतें 2% घटकर 61862 डॉलर प्रति औंस रह गईं। दूसरी ओर, पिछले महीने के रिकॉर्ड स्तर से घरेलू बाजारों में सोना 6,000 रुपये प्रति 10 ग्राम गिर गया है। (प्रतीकात्मक छवि)

7 अगस्त को एमसीएक्स पर सोने का भाव 56,000 रुपये प्रति दस ग्राम को पार कर गया। दूसरी ओर, सराफा बाजार में कीमत 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई। भारतीय बाजारों में आज क्या होगा? – विशेषज्ञों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय उछाल के कारण घरेलू बाजार में कीमतें बढ़ रही थीं। इसलिए इस गिरावट के बाद कीमतों में नरमी जारी रहने की उम्मीद है। आज भी सोने की कीमतों में गिरावट आ सकती है। दिल्ली बुलियन मार्केट में बुधवार को सोना 614 रुपये गिरकर 50,750 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया।

इसका कारण अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमतों में गिरावट है। पिछले कारोबार में सोना 51,364 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के अनुसार, चांदी भी 1898 रुपये घटकर 59,720 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई। पिछले कारोबार में चांदी 61,618 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी। (प्रतीकात्मक छवि)सोने और चांदी की कीमतों में गिरावट जारी है। बुधवार को कमोडिटी मार्केट में सोना चार गुना गिर गया। जहां सोना 683 रुपये सस्ता हो गया है। दूसरी ओर, चांदी 2,800 रुपये से नीचे आ गई है।

क्यों गिर रही है सोने की कीमत? – कोरोना वायरस की दूसरी लहर के डर के बीच निवेशक डॉलर को एक सुरक्षित ठिकाने के रूप में देख रहे हैं। डॉलर के मजबूत होने से सोने के भाव गिर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *